Girish Pankaj
गिरीश पंकज
सम्पादकीय सलाहकार
Arun Kumar Jha
अरुण कुमार झा
प्रधान संपादक
Rajiv Anand
राजीव आनन्द
संपादक
Vinay Kumar Mishra
विनय कुमार मिश्र
संपादन सहयोगी
• गांधी जी की शहादत • 10 लाख डॉलर कीमत की है आलू की यह तस्वीर • बिल गेट्स से दोगुनी संपत्ति है पुतिन के पास जानिए इस रईस को • षष्ठम अन्तर्राष्ट्रीय ब्लागर सम्मेलन (थाईलैण्ड) • भारत के रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर रांची के पहाड़ी मंदिर पर विश्व का सबसे ऊँचा राष्ट्रीय तिरंगा फहराकर इतिहास रचा • संगीता सिंह भावना की तीन कविताएँ • नमो पतंगबाजी की धूम • ट्रैफिक सुरक्षा सप्ताह का दूसरा दिन  • जबरा करे तो दिल्लगी, गबरू का गुनाह…!!

मीडिया


वरिष्ठ पत्रकार श्री बृजेश राजपूत

चुनाव लोकतंत्र का उत्सव- बृजेश राजपूत

भोपाल  चुनाव लोकतंत्र का उत्सव होता है और इस उत्सव में राजनेता अपनी सीट को बचाने के लिए जहाँ एक ओर कुछ भी करने को तैयार रहते हैं,वहीं दूसरी ओर समाज का भी असली रूप सामने होता है। ऐसी स्थिति में चुनावी रिपोर्टिंग के दौरान पत्रकार का रोल एक आब्जर्वर का होता है और उसे…


निदेशक पीआरडी अवधेश पाण्डेय

43 आवेदकों को प्रेस-प्रत्यायित किया गया

प्रधान सचिव सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग श्री संजय कुमार की अध्यक्षता में आज सूचना भवन सभागार में प्रेस प्रमाणीकरण समिति की बैठक हुई । बैठक में यह निर्णय लिया गया कि प्रेस अधिमान्यता के लिये प्राप्त आवेदनों के संबंध में यदि समिति अनभिज्ञ है तो पुलिस सत्यापन कराने के पश्चात ही अधिमान्यता देने पर विचार…


प्रेस क्लब का उद्घाटन भाषण करते मुख्यमंत्री

समय सीमा से पूर्व हो जायेगा प्रेस क्लब का निर्माण : रघुवर दास

आधुनिकतम सुविधाओं से लैस होगा प्रेस क्लब अब सामान्य मृत्यु पर भी पत्रकार के परिजनों को मिलेगी 5 लाख की राशि  रांची के करमटोली चौक में समय सीमा से पूर्व प्रेस क्लब बनकर तैयार हो जायेगा। जिसमें हर प्रकार की आधुनिकतम सुविधा उपलब्ध होगीए पत्रकारों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए इसमें जिम की भी व्यवस्था…


sitaraman sharma

संसद में नारेबाजी, सड़कों पर बहस, आज की विसंगति : सीतासरन शर्मा

भोपाल, 26 नवम्बर । मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष श्री सीतासरन शर्मा का कहना है कि संसद व विधानसभाओं का महत्व बनाए रखने से ही संविधान के उद्देश्यों व लोकतंत्र की गरिमा बढ़ेगी। आज संसद में नारेबाजी होती है और सड़कों पर बहस होती है, यह आज की विसंगति है। जबकि संसद में बहस और विमर्श…


डॉ. नंदकिशोर त्रिखा

पत्रकार सुरक्षित होंगे तभी प्रेस की आजादी सुरक्षित रहेगी : डॉ. नंदकिशोर त्रिखा

संजीव कुमार सिन्हा ”प्रेस की आजादी सुरक्षित रखनी है तो पत्रकार सुरक्षित रहना चाहिए।” यह बात गत 22 नवंबर को नई दिल्लीस में आयोजित एक संगोष्ठी् में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के पूर्व राष्ट्रीय अध्यईक्ष डॉ. नंदकिशोर त्रिखा ने कही। इस कार्यक्रम का आयोजन दिल्ली् जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन ने किया था और विषय था- ‘पत्रकार सुरक्षा…


पंक्ज दुबे

सपने देखें और उन्हें पूरा करने के लिए रास्ते भी बनाएँ- पंकज दुबे

भोपाल। 19 नवम्बर 2015 आज युवाओं को जीवन में कुछ नया करने के लिए सपने देखना चाहिए और उन सपनो को साकार करने के लिए रास्ते भी चुनना चाहिए। सिर्फ सपने देखने से मंजिल नहीं मिलती है। अपनी मंजिल तक पहुँचने के लिए रास्ते भी ढूँढ़ने होंगे और उसे पाने के लिए परिश्रम भी करना…


बबनप्रसाद मिश्र

निर्भीक, स्वाभिमानी और सिद्धांतवादी संपादक थे बबनप्रसाद मिश्र

7 नवम्बर, 2015 की मनहूस शाम हम कभी नहीं भूल पाएंगे, जब छत्तीसगढ़ की पत्रकारिता के शीर्ष पुरुष बबनप्रसाद मिश्र जी हम सबको छोड़ कर चले गये. उनके जाने के साथ ही पत्रकारिता का एक ऐसा शिखर ढह गया, जो हम सबके लिए प्रेरणा का काम करता रहा. नई पीढ़ी भी उनके बार में जब…


संजय मेहता

प्रशांत किशोर की टीम में संजय भी शामिल।

बिहार में महागंठबंधन के जीत के शिल्पकारएवं भारतीय राजनीति के नए चाणक्य  प्रशांत किशोर की टीम में हजारीबाग का संजय मेहता भी शामिल है। ज्ञात हो कि गुजरात विधानसभा चुनाव 2012 एवं लोकसभा चुनाव 2014 के दौरान प्रशांत किशोर ने नरेंद्र मोदी के साथ सीएजी सीटीजन फॉर एकाउंटेबल गर्वनेंस नामक संस्था बनाकर भाजपा के चुनावी अभियान को धार…


अरुण कुमार

वरिष्ठ पत्रकार अरुण कुमार का निधन

प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया (पीसीआई) के पूर्व सदस्य और टाइम्स ऑफ इंडिया के वरिष्ठ पत्रकार अरुण कुमार का आज निधन हो गया , वह 60 वर्ष के थें । श्री कुमार पिछले कुछ वर्षों से कैंसर से पीड़ित थें और आज उनका बेगूसराय जिले के मदुरापुर गांव स्थित पैतृक आवास पर निधन हो गया ।उनके…


राहुलदेव का भाषण

भाषाई अपाहिज, आगे बौद्धिक अपाहिज होंगे : राहुल देव

‘मीडिया की भूमिका : भाषा सीखना या सिखाना’ विषय पर माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता वि.वि. में संगोष्ठी सम्पन्न -डॉ. पवित्र श्रीवास्तव देश के वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव ने कहा कि वर्तमान में मीडिया में हिंदी की जो स्थिति है वह लंगड़ी, लूली और अपाहिज भाषा सी है। इसका असर यह होगा कि जो लोग भाषाई अपाहिज…


रवीश कुमार सही में दलाल है..

–रवीश कुमार॥ सभी मुद्दे वे मुद्दे हैं जिन पर रवीश कुमार को बोलना चाहिए या प्राइम टाइम में चर्चा करनी चाहिए । सभी बोल भी लें लेकिन सभी मुद्दों पर सभी का बोलना तभी माना जाएगा जब रवीश कुमार बोलेंगे या प्राइम टाइम में चर्चा करेंगे । जैसे जब प्राइम टाइम और फेसबुक नहीं था…


‘मीडिया विमर्श’ का नया अंक ‘विजन 2020’

भाषाई और क्षेत्रीय पत्रकारिता की पतवार के सहारे तेजी से आगे बढ़ेगा। पूंजी का खेल बन चुके धनपति मीडिया को नए मीडिया के सिपाही कम पैसे में अच्छी प‍त्रकारिता कर मुंह चिढ़ाएंगे। पत्रकार विजय मनोहर तिवारी का मानना है कि कि 2020 का मीडिया मूर्खताओं से बचना चाहेगा। वहीं मूल्यानुगत मीडिया के संपादक कमल दीक्षित…


Youtube
Sensex

अन्य ख़बरें

Submit Your Article

Copyright © 2015. All rights reserved. Powered by Origin IT Solution