Girish Pankaj
गिरीश पंकज
सम्पादकीय सलाहकार
Arun Kumar Jha
अरुण कुमार झा
प्रधान संपादक
Rajiv Anand
राजीव आनन्द
संपादक
Vinay Kumar Mishra
विनय कुमार मिश्र
संपादन सहयोगी
• गांधी जी की शहादत • 10 लाख डॉलर कीमत की है आलू की यह तस्वीर • बिल गेट्स से दोगुनी संपत्ति है पुतिन के पास जानिए इस रईस को • षष्ठम अन्तर्राष्ट्रीय ब्लागर सम्मेलन (थाईलैण्ड) • भारत के रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर रांची के पहाड़ी मंदिर पर विश्व का सबसे ऊँचा राष्ट्रीय तिरंगा फहराकर इतिहास रचा • संगीता सिंह भावना की तीन कविताएँ • नमो पतंगबाजी की धूम • ट्रैफिक सुरक्षा सप्ताह का दूसरा दिन  • जबरा करे तो दिल्लगी, गबरू का गुनाह…!!

एक वर्ष में सुदृढ़ हुईं स्वास्थ्य सेवाएं : रामचंद्र चंद्रवंशी स्वास्थ्य मंत्री


गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए सरकारी सहायता का दायरा बढ़ा
31 मार्च 2016 से शुरू होगा रांची में नवनिर्मित सदर अस्पताल
पलामूए हजारीबाग और दुमका में नये मेडिकल कॉलेज खुलेंगे

रांचीः स्वास्थ्य मंत्री श्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा है कि राज्य में सरकारी चिकित्सा सुविधाएं पहले से ज्यादा सुदृढ़ हुई हैं और भविष्य में राज्य के नागरिकों को सर्वोत्तम चिकित्सा सुविधाएं प्रदान करने हेतु सरकार प्रतिबद्ध है। श्री चंद्रवंशी मंगलवार को सूचना भवन स्थित सभागार में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
मौजूदा राज्य सरकार के एक वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य पर आयोजित इस संवाददाता सम्मेलन में श्री चंद्रवंशी ने विभाग द्वारा जनकल्याण हेतु उठाये जा रहे कदमों का विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने ष्मुख्यमंत्री गंभीर बीमारी उपचार योजनाष् के तहत 72 हजार रुपए तक वार्षिक आय वाले परिवारों को प्रदान की जानेवाली अनुदान की राशि 1ण्5 लाख रुपए से बढ़ाकर 2ण्5 लाख रुपए कर दी गयी है। इतना ही नहींए कैंसर के इलाज के लिए 4 लाख रुपए तथा गुर्दा प्रत्यारोपण के लिए 5 लाख रुपए तक की स्वीकृति का प्रावधान किया गया है। इतना ही नहींए ष्मुख्यमंत्री निःशुल्क डायग्नोस्टिक जांच योजनाष् के तहत गरीबों का मुफ्त में पैथोलोजी एवं रेडियोलॉजी जांच की जा रही है।
सरकार ने स्वास्थ्य सुविधाओं से संबंधित जानकारी हासिल करने के लिए निःशुल्क टेलीफोन हेल्पलाइन भी शुरू किया हैए जिसका नम्बर 108 है। पलामूए हजारीबाग और दुमका में नये मेडिकल कॉलेज खोलने हेतु भवन निर्माण के लिए भूमि एवं परामर्शी का चयन कर लिया गया है। शीघ्र ही कार्य भी प्रारंभ हो जाएंगे। धनबाद स्थित पीएमसीएच में सुपर स्पेशियलिटी विभागों की स्थापना के लिए केंद्र सरकार ने 150 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान कर दी है। श्री चंद्रवंशी ने बताया कि राज्य के 18 सदर अस्पतालों के लिए अतिरिक्त 244ए रिम्स में स्थापित दंत चिकित्सा महाविद्यालय के लिए 115ए राज्य खाद्य संरक्षा सेवा के लिए 85 तथा अन्य अस्पतालों में नियुक्ति के लिए 100 चिकित्सकों एवं विशेषज्ञों के पदों का सृजन किया गया है। जल्द ही ये नियुक्तियां हो जाएंगी। वैसे सरकार ने 306 नवनियुक्त चिकित्सा पदाधिकारियों का

पदस्थापन कर दिया है। इतना ही नहीं संविदा पर नियुक्त जिला स्तरीय लगभग 900 एएनएम की नियमित नियुक्ति भी की गयी है।
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जननी सुरक्षा योजना के तहत ग्रामीण क्षेत्र की गर्भवती महिला को स्वास्थ्य केंद्र में संस्थागत प्रसव हेतु 1400 रुपए एवं शहरी क्षेत्र की गर्भवती महिला को 1000 रुपए दिया जाता है। अप्रैल 2015 से अब तक कुल 2ए56ए967 महिलाओं का जननी सुरक्षा योजना के तहत संस्थागत प्रसव कराया गया। अप्रैल 2015 से अब तक जननी शिशु सुरक्षा कार्यक्रम के तहत कुल 1ए67ए804 गर्भवती महिलाओं को निःशुल्क दवाए 1ए56ए978 महिलाओं को निःशुल्क खानाए 1ए39ए843 को निःशुल्क जांच और 1008 महिलाओं को निःशुल्क रक्त की सुविधा प्रदान की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त मामता वाहन के रूप में राज्य भर में करीब 2000 वाहन चल रहे हैं। इन वाहनों से गर्भवती महिलाओं को घर से स्वास्थ्य केंद्रों तक निःशुल्क परिवहन सेवा उपलब्ध करायी जा रही है। अप्रैल से अक्तूबर की अवधि में ममता वाहन से करीब एक लाख दो हजार महिलाओं को घर से स्वास्थ्य संस्थानों तक पहुंचाया गया। इसके अलावा 76 हजार महिलाओं को ममता वाहन के द्वारा स्वास्थ्य संस्थानों से उनके घर तक पहुंचाया गया।
उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा मातृत्व के साथ.साथ शिशु स्वास्थ्य पर भी विशेष बल दिया जा रहा है। इसका नतीजा यह है कि राज्य में शिशु मृत्यु दर 36 रह गया हैए जो राष्ट्रीय औसत ;40द्ध से कम है। इसके अलावा परिवार नियोजन कार्यक्रमए राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रमए कन्या भ्रूण हत्या निषेध कार्यक्रमए राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रमए प्रशिक्षण कार्यक्रमए सहिया सामुदायिकरणए गुणवत्ता यकीन कार्यक्रमए प्रचार.प्रसार कार्यक्रमए सिकल सेल एनीमिया कार्यक्रमए राष्ट्रीय शहरी स्वास्थ्य कार्यक्रमए नर्सिंग कार्यक्रमए कुष्ट निवारण कार्यक्रमए अंधापन नियंत्रण कार्यक्रमए यक्ष्मा निवारण कार्यक्रम वेक्टर जनित रोग नियंत्रण कार्यक्रम और एकीकृत रोग नियंत्रण कार्यक्रम में पिछले एक वर्ष में उल्लेखनीय उपलब्धि रही है।
एक प्रश्न के उत्तर में श्री चंद्रवंशी ने बताया कि रांची में नवनिर्मित सदर अस्पताल 31 मार्च 2016 से चालू हो जाएगा। पहले इसे 200 शैया वाले अस्पताल के रूप में प्रारंभ किया जाएगा। इसका संचालन खुद राज्य सरकार करेगी। फिलहाल इसके लिए आवश्यक सामग्री के क्रय की प्रक्रिया चल रही है।
इस अवसर पर स्वास्थ्यए चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग के प्रधान सचिव श्री केण् विद्यासागरए रिम्स निदेशकए स्वास्थ्य निदेशक समेत अन्य विभागीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Youtube
Sensex

अन्य ख़बरें

Submit Your Article

Copyright © 2015. All rights reserved. Powered by Origin IT Solution